RUDRAPUR UTTRAKHAND

साल के आखिरी दिन जिलाधिकारी ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिए ये निर्देश

Summary

रूद्रपुर। जिलाधिकारी श्रीमती रंजना राजगुरु की अध्यक्षता में कलक्टेªट सभागार में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित एवं क्रियान्वयन योजनाओं की समीक्षा बैठक लेते हुये दिये आवश्यक दिशा-निर्देश। उन्होने कहा कि आंगनबाडी केन्द्रों में निर्धारित मानको के तहत […]

रूद्रपुर। जिलाधिकारी श्रीमती रंजना राजगुरु की अध्यक्षता में कलक्टेªट सभागार में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित एवं क्रियान्वयन योजनाओं की समीक्षा बैठक लेते हुये दिये आवश्यक दिशा-निर्देश। उन्होने कहा कि आंगनबाडी केन्द्रों में निर्धारित मानको के तहत पोषाहार वितरण करना सुनिश्चित करें। उन्होने चेतावनी देते हुये कहा कि जिन आंगनबाडी केन्द्रो में गुणवत्तायुक्त व मानको के आधार पर पोषाहार वितरण नही किया जा रहा है वे अपनी कार्य प्रणाली में सुधारात्मक रवैया लाये नही तो विभागीय कार्यवाही करते हुये प्रतिकुल प्रविष्टी की कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि सम्बन्धित अधिकारी महत्वपूर्ण योजना का अनुश्रवण/प्रर्यवेक्षण का कार्य नियमित रूप से करे तथा अपने दायित्वों के निर्वहन में किसी प्रकार की लापरवाही न बरते। उन्होने आंगनबाडी सुपरवाईजर व सीडीपीओ को लगातार अपने क्षेत्र के आंगनबाडी केन्द्रों का गहनता से निरीक्षण करें और उसकी रिपोर्ट उपलब्ध कराये।

उन्होने निर्देश देते हुये कहा कि टीएचआर मद में प्राप्त बजट का तत्काल आवश्यक कार्यवाही करते हुये आंगनबाडी के खातो में डालना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि टीएचआर वितरण में जो गैप आ रहा है उसको समय से सतप्रतिशत वितरण करना सुनिश्चित करें। उन्होने जसपुर शहर के सुपरवाईजर कमलेश राणा द्वारा कार्यो में लावरवाही बरते पर जिला कार्यक्रम अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करते हुये रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने वित्तीय वर्ष के नन्दा गौरा योजना के तहत तत्काल आवश्यक कार्यवाही करते हुये लाभार्थियों के खाते में धनराशि शीघ्र वितरित करने के भी निर्देश दिये।

उन्होने कहा कि प्रत्येक आंगनबाडी केन्द्र पर बच्चो व गर्भवती महिलाओ का निरंतर स्वास्थ्य परीक्षण करना सुनिश्चित करें। जिला कार्यक्रम अधिकारी उदय प्रताप सिंह ने बताया कि जनपद में 2387 आंगनबाडी केन्द्र संचालित है जिसमे से 2191 पूर्ण केन्द्र एवं 196 मिनी आंगनबाडी केन्द्र संचालित है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना व जनपद के आंगनबाडी सुपरवाईजर तथा सीडीपीओ उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *