Top Stories:
DEHRADUN UTTRAKHAND

मुख्यमंत्री का पद सम्हालते ही पुष्कर धामी ने कराया अपनी ताकत का अहसास,बदल दिया मुख्य सचिव का चेहरा,लाइन में और भी अधिकारी

Summary

देहरादून: ये सीएम के तौर पर धामी की धमक का असर है कि शपथ लिए 24 घंटे हुए भी नहीं और वो खूँटे उखड़ने लगे जिन्हें शासन में बरगद मानकर त्रिवेंद्र से तीरथ तक पूजते आ रहे थे।त्रिवेंद्र रावत के […]

देहरादून:

ये सीएम के तौर पर धामी की धमक का असर है कि शपथ लिए 24 घंटे हुए भी नहीं और वो खूँटे उखड़ने लगे जिन्हें शासन में बरगद मानकर त्रिवेंद्र से तीरथ तक पूजते आ रहे थे।त्रिवेंद्र रावत के कृषि मंत्री रहने के दौर से उनके करीबी नौकरशाह ओमप्रकाश को सीएम बनने के बाद टीएसआर ने 30 जुलाई 2020 को मुख्य सचिव बनाकर बड़ा संदेश दिया था। तीरथ सिंह रावत सीएम बने तो प्रधान सलाहकार बनाकर शत्रुघ्न सिंह को जरूर ले आए थे लेकिन ओपी राज पर बहुत प्रहार नहीं कर पाए। लेकिन नए सीएम पुष्कर सिंह धामी ने पूर्व सीएम टीएसआर के करीबी ओमप्रकाश की मुख्य सचिव पद से छुट्टी कर न केवल समूची नौकरशाही बल्कि पूरी कैबिनेट को भी अपने अंदाज ए एक्शन का मुज़ाहिरा करा दिया है।
अब सूबे के नए मुख्य सचिव होंगे 1988 बैच के सुखबीर सिंह संघु, जिनको NHAI चेयरमैन पद से रिलीव करते ही धामी सरकार ने अगला मुख्य सचिव बना दिया है। कामकाज के लिहाज से बेहद तेज़तर्रार माने जाने वाले सीनियर आईएएस के पास उत्तराखंड के अलावा पंजाब, यूपी और भारत सरकार में कामकाज का अच्छा अनुभव है और यहाँ वे जनरल खंडूरी, विजय बहुगुणा और हरीश रावत के प्रमुख सचिव रह चुके हैं।

माना जा रहा है कि विधायक के तौर पर पुष्कर सिंह धामी को पिछले साढ़े चार सालों में कभी भी ओमप्रकाश से पर्याप्त सहयोग नहीं मिल पाया था। उससे कहीं अधिक ये कि ओपी तेज़तर्रार अफसर की तर्ज पर परफ़ॉर्मेंस नहीं दे पा रहे थे और हाईकोर्ट से लेकर हर मोर्चे पर सरकार झटके खा रही थी।
CM धामी ने एसएस संधु को चीफ सेक्रेटरी बनाकर चुनावी सीजन में कामकाज में तेजी लाने के संकेत दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *